वक़्त

वक़्त का इरादा है क्या, ये तो मालूम नहीं| मालूम तो है बस इतना कि, ये वक़्त जो वक़्त है मेरा नहीं| पर ये वक़्त मेरा कभी न हो सकेगा, ये तो शायद खुद वक़्त भी न कह सकेगा| जो ज़रा देर हुई तो ना घबराइयेगा, सबका वक़्त आने में ज़रा वक़्त लगता है| -स्नेहा … Continue reading वक़्त

Advertisements